इंटरनेट बैंकिंग क्या है, नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे करें?

आज के लेख में इंटरनेट बैंकिंग क्या है, नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे करें? (What is internet banking, how to use net banking) के बारे में जानकारी हिंदी भाषा में बताई गई है. लेख में इंटरनेट बैंकिंग से संबंधित उन सभी सवालों के जवाब विस्तार से दिए जाएंगे जो लोगों के सामने बार-बार आते हैं या नेट बैंकिंग से संबंधित समस्याएं लोगों को होती है उन से कैसे निपटा जाए और सही से नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे किया जाए.

Internet और Digital के समय में आज हर व्यक्ति पैसे का लेनदेन ऑनलाइन ट्रांसफर के जरिए करते है लेकिन अभी भी कुछ लोग ऐसे है जो Online Net Banking Use करने से डरते है, क्योंकि सही जानकारी नही मिलने से उनके मन में पैसा ना उलझ जाए ऐसा डर बना रहता है.

Digital india के दौर में आज भी कुछ ऐसे लोग है जो नेट बैंकिंग इस्तेमाल करना चाहते है लेकिन अभी यह जानकारी नही है कि – नेट बैंकिंग का मतलब क्या है. नेट बैंकिंग क्या है, इस्तेमाल कैसे करें. नेट बैंकिंग कैसे करें. नेट बैंकिंग से क्या फायदा है. ई-बैंकिंग क्या है. नेट बैंकिंग कैसे चालू करे. नेट बैंकिंग के प्रकार. एसबीआई नेट बैंकिंग कैसे करे. आदि.

क्या आप भी Inernet Banking का इस्तेमाल करना चाहते है तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें क्योंकि यह लेख आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होने वाला है.

इंटरनेट बैंकिंग क्या है?

Net Banking Kya Hai: सरकारी और प्राइवेट बैंकों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक लेनदेन के लिए Internet बैंकिंग शुरू किया है, इससे हर वो व्यक्ति जिसका किसी बैंक में खाता है और वो उस बैंक की नेट बैंकिंग चालू करवा कर किसी भी डिजिटल उपकरण जैसे मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर द्वारा घर बैठे कुछ ही सेकंड में लाखों रुपए एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर कर सकता है. लेनदेन को ऑनलाइन करने की इसी प्रक्रिया को इंटरनेट बैंकिंग या नेट बैंकिंग कहते हैं.

ई-बैंकिंग क्या है?

ई बैंकिंग बैंकों द्वारा ग्राहकों को घर बैठे ऑनलाइन लेन-देन करने के लिए प्रदाय की गई एक इलेक्ट्रॉनिक सुविधा है जिसे हम ऑनलाइन बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग भी कहते हैं.
इंटरनेट बैंकिंग और ई बैंकिंग दोनों के कार्य एक ही है बस नाम में थोड़ा अंतर है.
ई बैंकिंग का इस्तेमाल घर बैठे अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप, कंप्यूटर द्वारा ऑनलाइन या ऐप के माध्यम से किया जा सकता है.

नेट बैंकिंग कैसे करे?

इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करने के लिए आपका जिस भी बैंक में अकाउंट है उस बैंक में जाकर नेट बैंकिंग करवाने की एप्लीकेशन दे, कुछ ही दिनों में आप दोबारा बैंक जाएं और बैंक वालो से इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करने के लिए USERNAME और PASSWORD ले.
आपको बैंक की तरफ से एक लिफाफा दिया जाता है जिसमे यूजरनेम, पासवर्ड के साथ साथ Profile Password भी दिया जाता है.

नेट बैंकिंग इस्तेमाल कैसे करे?

आप भी नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करना चाहते हैं, नेट बैंकिंग इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है इसके लिए जरूरी है कि सबसे पहले आपके पास किसी भी बैंक में अकाउंट खुला होना चाहिए, इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर इनमें से किसी भी माध्यम के जरिए आप ऑनलाइन बड़ी आसानी से कर सकते हैं.

सभी बैंकों ने अपने अपने ग्राहकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने के लिए अपना-अपना एक ऐप लॉन्च किया है जो आपको गूगल प्ले स्टोर पर मिल जाएगा ऐप के माध्यम से भी आप इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं.
नेट बैंकिंग इस्तेमाल करना चाहते हैं तो संबंधित बैंक की नेट बैंकिंग साइट को ओपन करें, नेट बैंकिंग यूजरनेम और पासवर्ड डालकर login करे, इतना करने के बाद आप आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हो.

लेकिन में आपको संबंधित बैंक नेट बैंकिंग एप इस्तेमाल करने की सलाह दूंगा क्योंकि यह काफी आसान है, नेट बैंकिंग एप में भी Username और Password डालकर ओपन करे, इतना करने पर आपके सामने नेट बैंकिंग एप की लेनदेन से लेकर सभी प्रकार की सुविधाओं का डैशबोर्ड खुल जायेगा.

नेट बैंकिंग से पैसे कैसे ट्रांसफर करे?

इंटरनेट बैंकिंग से पैसे ट्रांसफर करने के लिए सबसे पहले आप संबंधित बैंक की इंटरनेट बैंकिंग की साइट पर जाएं और अपना यूजर नेम और पासवर्ड डालकर लॉगइन कर लें. लॉग इन करने के बाद आपके सामने आपकी अकाउंट की पूरी जानकारी खुलकर ओपन हो जाएंगी जिसमें आपको बहुत सारे ऑप्शन मिलेंगे.
आपको ट्रांसफर वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है जैसे ही आप ट्रांसफर पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने नया पेज ओपन होगा, जिसमे सबसे पहले जिस अकाउंट में भी आप पैसा भेजना चाहते हैं उस व्यक्ति का अकाउंट नंबर डालना पड़ेगा, पूरा नाम इंटर करना पड़ेगा, साथ ही सामने वाले व्यक्ति का अकाउंट किस बैंक में है उस बैंक का आईएफसी कोड भी इंटर करना पड़ेगा. इतना करने के बाद सबसे नीचे आपको एक राशि का ऑप्शन दिखाई देगा, जितना भी पैसा संबंधित व्यक्ति को भेजना चाहते हैं वह राशि आपको यहां पर इंटर करना पड़ेगा.

जैसे ही आप राशि इंटर कर देंगे सबसे नीचे सेंड या सबमिट का ऑप्शन आएगा उस पर क्लिक करें, क्लिक करते ही आपके नेट बैंकिंग के साथ में आपने जो मोबाइल नंबर दिया होगा उस नंबर पर एक ओटीपी आएगा वो ओटीपी आपको एक पॉपअप विंडो ओपन होगा उसमें इंटर करना पड़ेगा, जैसे ही आप ओटीपी इंटर करोगे और नीचे ओके पर क्लिक करोगे कुछ ही सेकंड में पैसा संबंधित व्यक्ति के अकाउंट में सक्सेसफुल ट्रांसफर हो जाएगा.

इस प्रकार से आप बड़ी ही आसानी से इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करके अपने अकाउंट से दूसरे व्यक्ति के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर सकते हो.
नोट – प्रत्येक बैंक का अपना एक अलग सिस्टम होता है किसी किसी बैंक में आपको लेनदेन के समय प्रोफाइल पासवर्ड भी इंटर करना पड़ता है जैसे कि एसबीआई बैंक की बात करें तो एसबीआई बैंक में खाता नंबर, आईएफसी कोड, सामने वाले व्यक्ति का नाम, राशि दर्ज करने के बाद जैसे ही आप ओके पर क्लिक करोगे तो आपसे एक प्रोफाइल पासवर्ड मांगा जाएगा वह प्रोफाइल पासवर्ड आपको इंटर करना पड़ेगा जो कि हम को बैंक द्वारा दिया जाता है.

इंटरनेट बैंकिंग के प्रकार –

अगर आप एक बार इंटरनेट बैंकिंग करवा लेते हो तो इसे आप कई प्रकार से यूज कर सकते हो जैसे कि –
E-Banking-
मोबाइल कंप्यूटर लैपटॉप के द्वारा ऑनलाइन डिजिटल तरीके से पैसों का लेन देन कर सकते हो.
E-Chek- इंटरनेट बैंकिंग की मदद से पे-पल और दूसरी E-Sewa का इस्तेमाल कर पैसे का लेन देन कर सकते हो.
ATM Machine- अगर आपके पास इंटरनेट बैंकिंग है तो आप एटीएम मशीन के द्वारा भी पैसे को एटीएम द्वारा जमा कर सकते हो और निकाल भी सकते हो.

नेट बैंकिंग की विशेताएं?

नेट बैंकिंग की विशेषता की बात करें तो इसमें आपको लेनदेन के अलावा और भी बहुत सारी सुविधाएं दी जाती है जो कि निम्न है –

  • Credit Score- इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा आप अपना क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हो जिसका आपसे कोई भी चार्ज नहीं लिया जाता है फ्री में आप का क्रेडिट स्कोर चेक हो जाता है.
  • Bank Statement- ई बैंकिंग के द्वारा आप अपना बैंक स्टेटमेंट चेक कर सकते हो और अपने मोबाइल में डाउनलोड भी कर सकते हो, 6 महीने तक का बैंक स्टेटमेंट देखने के साथ-साथ डाउनलोड भी कर सकते हो जिसका आप से कोई चार्ज नहीं लिया जाता है यह एक फ्री सेवा है.
  • Fixed Deposite – इसका इस्तेमाल कर घर बैठे एफडी कर सकते हो और घर बैठे कभी भी इसी एफडी को निकाल भी सकते हो आप को बैंक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.
  • Recharge – नेट बैंकिंग में रिचार्ज की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है जिसमें आप मोबाइल रिचार्ज, डीटीएच रिचार्ज, डिश टीवी रिचार्ज, टाटा स्काई रिचार्ज सभी प्रकार के रिचार्ज कर सकते हैं जो कि काफी अच्छी सुविधाएं नेट बैंकिंग द्वारा प्रदाय की गई.
  • Loan Repayment – इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर का इस्तेमाल कर अगर आपका कोई पहले से लोन चल रहा है उसको आप जमा करना चाहते हैं तो इसमें आपको एक लोन रीपेमेंट वाला भी ऑप्शन दिया गया है जिसका इस्तेमाल कर आप घर बैठे लोन कारी पेमेंट कर सकते हो.
  • Policy – इसमें एक पॉलिसी का ऑप्शन भी है जिसका इस्तेमाल कर हमारी कोई भी पुरानी पॉलिसी को जमा कर सकते हैं और निकाल भी सकते हैं जिसमें बस आपको अपना पॉलिसी क्रमांक डालना होता है पॉलिसी क्रमांक डालने के बाद में यह ऑटोमेटिक आपकी पॉलिसी को रीडायरेक्ट कर लेता है पूरी जानकारी ऐड हो जाती है.
  • Debit Card Manage – डेबिट कार्ड मैनेज वाली सुविधा का इस्तेमाल कर हम हमारे एटीएम कार्ड को मैनेज कर सकते हैं जैसे कि हमको अंतर्राष्ट्रीय लेनदेन बंद करना है यह चालू करना है या किसी भी प्रकार की ई-कॉमर्स लेन-देन बंद करना है या चालू करना है या एटीएम लेन देन राशि लिमिट सेट करना है आदि. एटीएम कार्ड चोरी हो जाने या गुम हो जाने की स्थिति में इस सुविधा का इस्तेमाल कर आप नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर मोबाइल के जरिए एटीएम कार्ड को ब्लॉक कर सकते हैं.
  • Mutual Fund – इसमें हम चाहे तो म्यूचुअल फंड में भी निवेश कर सकते हैं म्यूच्यूअल फंड वाले ऑप्शन पर क्लिक करके जिस भी Share में हमको म्यूच्यूअल फंड का इन्वेस्ट करना है वह सभी प्लान आपके सामने आ जाएंगे जो भी प्लान आपको पसंद हो आपके मुताबिक आप म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं.
  • Loan – आजकल बीच-बीच में सभी बैंकों द्वारा जिन जिन ग्राहकों ने इंटरनेट बैंकिंग करवा रखा है उनकी डेस बोर्ड पर कभी कबार लोन का ऑफर भी आता है आप चाहो तो अपने मुताबिक लोन ले सकते हो जैसे कि वह उनकी तरफ से लिमिट सेट कर देते हैं कि आप 40,000 से 120000 तक के बीच में लोन ले सकते हो तो आप इस ऑप्शन का इस्तेमाल कर घर बैठे मोबाइल से लोन भी ले सकते हो.
  • Shop & Order – नेट बैंकिंग के द्वारा घर बैठे ऑनलाइन मोबाइल के द्वारा शॉपिंग भी कर सकते हो जो कि आपको होम डिलीवरी द्वारा आपके घर पर पहुंचा दी जाती है.
  • Book Train Ticket – ई बैंकिंग का द्वारा करके आप घर बैठे मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर का इस्तेमाल कर ट्रेन का टिकट भी बुक कर सकते हो जोकि नेट बैंकिंग में दी गई काफी अच्छी सुविधाएं है.
  • Request Cheque Book – अगर आप अपनी बैंक की चेक बुक घर बैठे मंगवाना चाहते हो तो इसमें आपको चेक बुक रिक्वेस्ट का ऑप्शन भी दिया गया है जिस पर आप क्लिक कर अपनी थोड़ी सी जानकारी इंटर कर घर पर ही चेक मंगवा सकते हो यह भी काफी अच्छी सुविधा है जो हमको नेट बैंकिंग द्वारा मिलती है. अगर कभी हमारी चेक बुक चोरी हो जाती है या गुम हो जाती है तो आप इस सुविधा का इस्तेमाल कर अपनी चेक बुक को कैंसिल भी कर सकते हो और कोई दूसरा व्यक्ति आपकी चेक बुक का इस्तेमाल करना भी चाहे तो वह दुरुपयोग नहीं कर पाएगा.

संबंधित पोस्ट:- SBI online FD kaise karen Mobile Se?

भारत पे एप क्या है, भारत पे एप इस्तेमाल कैसे करे?

नेट बैंकिंग के फायदे और नुकसान क्या है?

नेट बैंकिंग के लाभ और हानि/फायदे और नुकसान की बात करें तो इसमें बहुत सारे हमको फायदे भी हैं तो उसी के साथ कुछ नुकसान भी है, नेट बैंकिंग के लाभ और हानि को हम दो अलग-अलग पैराग्राफ में समझते हैं ताकि आप लोगों को अच्छे से समझ में आ जाए –
नेट बैंकिंग के फायदे – अगर हम नेट बैंकिंग की तुलना बिना नेट बैंकिंग के साथ में करें तो आपको फायदे का अपने आप पता चल जाएगा अगर हमको किसी के भी बैंक अकाउंट में पैसा डालना है और हमारे पास में नेट बैंकिंग है तो हम कुछ ही सेकंड में सामने वाले व्यक्ति के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं.
इसमें हमारा कीमती समय बसता है और हमको कहीं पर भी बैंक जाकर लाइनों में लगने की जरूरत नहीं पड़ती है और भी बहुत सारी सुविधाएं जो भी आप ऊपर पढ़ चुके हैं नेट बैंकिंग द्वारा हमको प्रदाय की गई है.
नेट बैंकिंग के नुकसान – अगर आपको अच्छे से नेट बैंकिंग चलाना नहीं आता है तो इसमें कभी कबार आपके साथ में धोखाधड़ी भी हो सकती है या अपनी खुद की गलती से भी आप इसमें अपना पैसा बेस्ट कर सकते हो.
नेट बैंकिंग का पासवर्ड और यूजर नेम किसी व्यक्ति को पता चल जाए अगर वह हमारे साथ में फ्रॉड करना चाहे तो बड़ी आसानी से हमारे पैसों को अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकता है तो इसमें कहीं ना कहीं धोखाधड़ी की गुंजाइश बन जाती है.
मोबाइल नोटपैड में पासवर्ड लिखने से भी हमारे साथ में धोखाधड़ी हो सकती है क्योंकि कभी कबार हमारा मोबाइल गुम जाता है उस दशा में कोई भी व्यक्ति यूजरनेम और पासवर्ड का इस्तेमाल कर हमारे साथ में धोखाधड़ी कर सकता है.
नेट बैंकिंग का पासवर्ड किसी कागज में लिखकर अपने पर्स में रख कर घूमने पर अगर हमारा पर्स गुम जाए तो उस दशा में भी हमारे साथ में धोखाधड़ी हो सकती है या फिर लिखे हुए कागज को कहीं पर भी रख कर भूल जाने पर वही कागज किसी दूसरे व्यक्ति के हाथ लगने पर भी हमारे साथ में नेट बैंकिंग के द्वारा धोखाधड़ी होने के चांस बढ़ जाते हैं.

ऑनलाइन बैंकिंग क्या है?

जब कोई कस्टमर बैंक ना जाकर इंटरनेट के जरिए ऑनलाइन नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर घर बैठे पैसा एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर करता है इसी को ऑनलाइन बैंकिंग कहते हैं या नेट बैंकिंग का दूसरा नाम ही ऑनलाइन बैंकिंग है.

FAQ,s

Net Banking kya hai?

मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर द्वारा घर बैठे कुछ ही सेकंड में लाखों रुपए एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर कर सकता है. लेनदेन को ऑनलाइन करने की इसी प्रक्रिया को इंटरनेट बैंकिंग या नेट बैंकिंग कहते हैं.

नेट बैंकिंग के बारे में जानकारी?

लेनदेन को ऑनलाइन करने की इसी प्रक्रिया को इंटरनेट बैंकिंग या नेट बैंकिंग कहते हैं.

नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे करते हैं?

मोबाइल, कंप्यूटर या लैपटॉप द्वारा ऑफिशियल इंटरनेट साइड के माध्यम से या फिर संबंधित बैंक की इंटरनेट बैंकिंग ऐप के माध्यम से इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल किया जा सकता है।

इंटरनेट बैंकिंग का मतलब क्या होता है?

जब किसी बैंक खाताधारक द्वारा इंटरनेट बैंकिंग करवा कर ऑनलाइन ऑफिशियल वेबसाइट के द्वारा पैसा एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर करना या फिर संबंधित बैंक के ऐप द्वारा इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करना ही इंटरनेट बैंकिंग का मतलब होता है।

निष्कर्ष –

में आशा करता हूं कि आज का यह लेख इंटरनेट बैंकिंग क्या है, नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे करें? जरूर पसंद आया होगा. दोस्तो में हमेशा पूरा प्रयास और काफी रिसर्च करके लेख के द्वारा सभी पाठको तक जानकारी पहुंचता हूं. मेरा हमेशा यही प्रयास रहता है कि कोई भी पाठक मेरी हिंडीनोट की पोस्ट को पढ़े और संतुष्ट होकर जाए ताकि पाठको को दूसरे वेबसाइट या कोई भी सोशल मीडिया साइट्स पर जाना नही पड़े, एक ही लेख में पूरी जानकारी मिल जाए.

आज के लेख से संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न हो तो आप आर्टिकल के कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न भेजे आपकी पूरी मदद की जाएगी। आपके दोस्त या परिचित भी ऐसी जानकारी जानने के इच्छुक हो तो कृपया आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे फेसबुक, टेलीग्राम, व्हाट्सएप आदि.

Leave a Comment

x