अच्छा डोमेन नाम कैसे चुनें – डोमेन नाम कैसा होना चाहिए?

नमस्कार दोस्तों आज के लेख मे, डोमेन नाम कैसे चुनें. वेबसाइट का नाम क्या रखें. डोमेन नाम कितने प्रकार के होते हैं. डोमेन का मतलब क्या होता है. Domain Name Meaning in Hindi. डोमेन नाम कैसा होना चाहिए. सभी प्रश्नों के उत्तर विस्तार पूर्वक समझाने वाला हूं.

Domain Name के बारे में जानकारी जानना खासकर उन लोगों के लिए जरूरी है जो Blogging के छेत्र में आना चाहते हैं, ब्लॉगिंग से पैसा कमाना चाहते हैं. इसके अलावा डोमेन नाम सिलेक्शन के बारे में उन लोगों को भी जानना चाहिए जो ब्लॉगिंग में लगातार फेल हो रहे है, जिनके वेबसाइट या आर्टिकल रैंक नही हो पा रहा है.
आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि निच के हिसाब से Domain Select नही कर पाने के कारण ही 50% लोग ब्लॉगिंग में फेल होते हैं आप कितने भी अच्छे आर्टिकल लिखोगे फिर भी आपको मेहनत के मुताबिक रिज़ल्ट नही मिलेगा.
नए ब्लॉगर पूरी जानकारी लिए बिना डोमेन नाम खरीद कर पोस्ट अपलोड करना शुरू कर देते है जब उनको सही Domain Selection का पता चलता है तब तक बहुत देर हो जाती है फिर ये सोंचते है कि ब्लॉगिंग में कैरियर नही बन सकता.
आज मैं आपको सही Domain चुनने वाली कुछ वेबसाइटों के नाम बताऊंगा जो सिर्फ अपने डोमेन नाम की वजह से भी रैंक कर रहे हैं इनमे से एक मेरी वेबसाइट HindiNote भी है.
लेकिन अब आपको उदास होने की जरूरत नहीं है ना ही डिमोटिवेशन होने की जरूरत है आप सिर्फ़ आर्टिकल को पूरा पढ़िए आप कुछ ही महीनों में आपकी वेबसाइट को गूगल पर रैंक करा पाओगे, चलिए बिना समय बेस्ट किए आज का आर्टिकल शुरू करते हैं.

डोमेन नाम कैसे चुनें?

अपने ब्लॉग के लिए बेस्ट डोमेन नाम कैसे चुनें या वेबसाइट का नाम क्या रखें. के बारे में जानते हैं. डोमेन नाम चुनने के लिए हमको डोमेन नाम के चार पांच प्रकार की जानकारी होना अतिआवश्यक है.
डोमेन का चुनाव करने के लिए आपको निम्न टॉपिक्स को जानना जरूरी है.

  • देश के हिसाब से डोमेन नाम
  • भाषा के हिसाब से डोमेन नाम
  • कैटेगरी के हिसाब से डोमेन
  • चर्चित या लोकप्रिय डोमेन कॉपी
  • छोटा Domain
  • शीर्ष स्तर का डोमेन

इन सारी चीजे आपके डोमेन से जुड़ी होना चाहिए तभी आपका डोमेन एक अच्छा डोमेन बन पाएगा.

उक्त सभी स्टेप के सारांश को स्टेप बाय स्टेप समझता हूं ताकि आपको अच्छे से समझ में आ जाएं.

देश के हिसाब से डोमेन नाम-

डोमेन नाम कैसा होना चाहिए इसके लिए सबसे पहले यह क्लियर होना जरूरी है कि आप जो डोमेन खरीदने जा रहे हो उसे आप कौन से देश में दिखना चाहते हो या किस देश की Audiance को Target करना चाहते हो, अगर आप सभी देशों की पब्लिक को ब्लॉग दिखाना चाहते हो तो आपके लिए सबसे बेस्ट होगा Dot Com वाली वेबसाइट जिसके लास्ट में .COM होता है.
इसके अलावा आप किसी एक देश की ऑडियंस को टारगेट करना चाहते हो तो आपको अलग डोमेन नाम का इस्तेमाल करना पड़ेगा. जैसे उदाहरण के लिए मान लीजिए मुझे भारत की ऑडियंस को टारगेट करना है तो इसके लिए मुझे Dot in वेबसाइट डोमेन नेम खरीदना पड़ेगा, .in डोमेन नाम इंडिया के लिए क्योंकि इसमें बाद में इन लगा है इन कीवर्ड इंडिया को टारगेट करता है इसलिए अगर आप इंडिया की ऑडियंस को ब्लॉग दिखाना चाहते हो तो डॉट इन ब्लॉग ही खरीदें.
पूरे विश्व का और हर देश का अलग-अलग डोमेन नेम होता है हालांकि किसी भी डोमेन नाम को हम भी खरीद सकते हैं लेकिन अगर दूसरे देश के डोमेन नेम से वेबसाइट को हम भारत की ऑडियंस तक पहुंचाएंगे तो हमारी वेबसाइट फैल हो जाएगी या जीरो के बराबर ट्रैफिक आएगा.
इसलिए डोमेन नेम खरीदने से पहले कंट्री सिलेक्शन करना अति आवश्यक है.
.net डॉट नेट भी वर्ल्ड वाइड डोमेन है इसको आप विश्व के किसी भी देश में इस्तेमाल कर सकते हो या किसी भी देश की ऑडियंस को टारगेट कर सकते हो डॉट कॉम और डॉट नेट काफी लोकप्रिय डोमेन है.

भाषा के हिसाब से डोमेन नाम-

ब्लॉग रैंकिंग में भाषा का बहुत महत्व है, सबसे पहले आप किस भाषा में ब्लॉक पर आर्टिकल लिखेंगे उसी भाषा के आधार पर आपका डोमेन नेम भी होना चाहिए. जैसे कि उदाहरण के लिए आप मेरी वेबसाइट को ही ले लीजिए मैं वेबसाइट पर हिंदी में आर्टिकल लिखता हूं इसलिए मेरी वेबसाइट डोमेन नाम HindiNote में पहले सबसे पहले Hindi आता है.
आप भी यही कोशिश करें कि जब भी डोमेन खरीदने जाए तो सबसे पहले डोमेन नाम के साथ हिंदी आना चाहिए या हिंदी के कुछ वर्ड आना चाहिए इससे आपकी वेबसाइट जल्दी रैंक करेगी.
आप बड़ी बड़ी वेबसाइट्स देख लीजिए उन्होंने भी कहीं ना कहीं डोमेन नेम में भाषा का इस्तेमाल किया है इसीलिए उनके ब्लॉग हमेशा हिंदी में लेख पढ़ने वाले ऑडियंस को फर्स्ट पेज दिखाई देगा.
Hindime.net डोमेन नाम की एक वेबसाइट है जो काफी पॉपुलर है जिसमें आपको फर्स्ट में हिंदी मिलेगा इसलिए आप भी हमेशा यह ध्यान रखें की डोमेन नेम के फर्स्ट में, बीच में या लास्ट में हिंदी जरूर होना चाहिए ताकि आपका ब्लॉग भी जल्दी रैंक हो सके. ऐसी कई पॉपुलर वेबसाइट है जो सिर्फ अपने डोमेन नेम की वजह से रैंक होने लगी और आज की कंडीशन में काफी पॉपुलर है जैसे कि hindimehelp.com, hindistep.com, inhindihelp.com, hindisahayta.com आदि.
उक्त पैराग्राफ से आप को डोमेन नेम में भाषा का कितना महत्व है समझ में आ गया होगा.

कैटेगरी के हिसाब से डोमेन नाम –

अगर आपको एजुकेशन का अच्छा नॉलेज है तो एजुकेशन वाला डोमेन खरीदे अगर आपको टेक्नोलॉजी के नॉलेज अच्छा है तो टेक्नोलॉजी वाला डोमेन खरीदे. इसके विपरीत आप जाओगे जैसे की आपको ऑटोमोबाइल का नॉलेज है और आप ब्लॉग डोमेन एजुकेशन या शायरी वाला खरीदोगे तो कभी भी आपकी वेबसाइट रैंक नही करेगी.
अगर कैटेगरी के हिसाब से डोमेन नाम खरीदते हो तो डोमेन नाम में कहीं ना कहीं उस केटेगरी का जिक्र होना चाहिए या उस केटेगरी का आधा नाम यह पूरा नाम जरूर होना चाहिए जिससे आपके आर्टिकल जल्दी रैंक करेंगे और आपकी वेबसाइट भी काफी जल्दी Rank करने लगेगी.
Category डोमेन में कैटेगरी नाम कुछ इस प्रकार होना चाहिए जैसे कि मेरी वेबसाइट का नाम है HindiNote तो इसमें शुरू वाला hindi शब्द या Keyword है वो हिंदी भाषा को टारगेट करेगा उसके बाद है Note जो रूपये, मोबाइल, टेक्नोलॉजी और एजुकेशन को टारगेट कर रहा है, अब मै मेरे ऊपर है की में आर्टिकल किस प्रकार के अपलोड करू, में चाहु तो Hindinotes वेबसाइट पर में Tech & Finance वाले आर्टिकल भी अपलोड कर सकता हूं, टेक्नोलॉजी वाले आर्टीकल अपलोड कर सकता हूं, या फिर एजुकेशन वाले आर्टिकल अपलोड कर सकता हूं, HindiNote.com Domain नाम के साथ मेरे पास तीन से चार ऑप्शन है जिस category के आर्टिकल अपलोड करूंगा वेबसाइट उन्ही कीवर्ड पर रैंक करने लगेगी, दोस्तो यही फायदा है एक अच्छे डोमेन नाम चुनने का.

चर्चित या लोकप्रिय डोमेन कॉपी-

डोमेन बनाने से पहले एक बात ध्यान रखे की कोई भी लोकप्रिय वेबसाइट के डोमेन नाम को कॉपी ना करें, ऐसा करने पर आपकी वेबसाइट गूगल की नजरो में अच्छी वेबसाइट नही कहलाएगी, लोकप्रिय वेबसाइट जैसे कि neilpatel जी की वेबसाइट, न्यूज वाली वेबसाइट जैसे कि Aaj tak, India Times Today, मनीकंट्रोल, पैसा बाजार डॉट कॉम, आदि.
अपना खुद का एक नया डोमेन नाम बनाएं.

छोटा डोमेन नाम Short Domain-

डोमेन नाम जितने कम शब्द का होगा उतना अच्छा लगता है और ऑडियंस को पढ़ने में भी आसान होता है, ऐसे डोमेन नाम ऑडियंस को याद भी जल्दी होते हैं. अगर ऑडियंस को आपके ब्लॉग का डोमेन नाम याद रहेगा तो यकीनन मानिए दोबारा भी ऑडियंस आपका ब्लॉग को विजिट करेगी जिससे वेबसाइट भी रैंक करेगी.

शीर्ष स्तर का डोमेन Top Level Domain –

ऐसा ब्लॉग/वेबसाइट का नाम रखे जो अट्रैक्टिव हो, डोमेन नाम से ऐसा रखना चाहिए जो एक बार पढ़ने के बाद जुबा पर अपने आप आ जाए. जैसे कि आप मेरी वेबसाइट का नाम ही देखिए कोई भी एक बार पढ़े तो हमेशा याद रहेगा.

डोमेन नाम कैसा होना चाहिए?

अच्छा डोमेन नाम (Best Website Name) वो होता है जिसमे आर्टिकल की भाषा कीवर्ड हो, सभी आर्टिकल से संबंधित कैटेगरी समाहित हो, Domain Name कम से कम 3 शब्द और अधिकतम 8 शब्द का हो, Dot Come वाला या Dot net वाला डोमेन हो.
उक्त सभी बातों को ध्यान में रखकर बनाया गया डोमेन एक अच्छा डोमेन नेम होता है.

डोमेन नाम कितने प्रकार के होते हैं?

Domain Name कहीं प्रकार के होते हैं जिसमे भारतीय ब्लॉगर के हिसाब से 5 सबसे अधिक पॉपुलर डोमेन है –
Dot Com (.com)
Dot net (.net)
Dot in (.in)
Dot Co Dot in (.co.in)
Dot org (.org)

Domain Name Meaning in Hindi?

Domain का हिंदी मीनिंग क्या होता है अगर आप एक ब्लॉगर है तो आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है, इसे हिंदी में कही प्रकार से बोला जाता है जैसे कि- ज्ञान छेत्र, जागीर, शासन छेत्र, प्रभाव छेत्र.
लेकिन उक्त सभी Domain Hindi Meaning सटीक उत्तर नही देता है.
अगर इसी डोमेन का हिंदी मतलब एक ब्लॉगर के हिसाब से समझेंगे तो डोमेन एक ऐसा एड्रेस होता है जो किसी व्यक्ति, वेबसाइट, कंपनी के नाम या ब्रांड को दर्शाता है.

यह भी पढें अगर आपकी रूची हो तो- GeneratePress Theme Post Tags Hide Kaise Kare?

निष्कर्ष –

दोस्तों में आशा करता हूं कि आज का यह लेख अच्छा डोमेन नाम कैसे चुनें, डोमेन नाम कैसा होना चाहिए? जरूर पसंद आया होगा.
में पूरा पूरा प्रयास और काफी रिसर्च कर लेख के द्वारा जानकारी सभी पाठको तक पहुंचता हूं.
मेरा हमेशा यही प्रयास रहता है कि कोई भी पाठक मेरी हिंडिनोट की पोस्ट को पढ़े और संतुष्ट होकर जाए ताकि पाठको को दूसरे वेबसाइट या कोई भी सोशल मीडिया साइट्स पर जाना नही पड़े, एक ही लेख में पूरी जानकारी मिल जाए.
इसके अलावा अगर आज के लेख से संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न हो तो आप आर्टिकल के कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न भेजे आपकी पूरी मदद की जाएगी.
आपके दोस्त या परिचित भी ऐसी जानकारी जानने के इच्छुक हो तो कृपया आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे फेसबुक, टेलीग्राम, व्हाट्सएप आदि.

Leave a Comment