घड़ी का आविष्कार किसने किया और कब? – Ghadi Ka Avishkar Kisne Kiya

क्या आप जानते है, घड़ी का आविष्कार सबसे पहले किसने किया? एवं दुनिया की पहली घड़ी कब बनी थी, अगर आप नही जानते कि घड़ी का आविष्कार कब किसने और किस देश में किया था, इस लेख में घड़ी का आविष्कार किसने किया और कब किया था? – Ghadi Ka Avishkar Kisne Kiya (Who invented the clock and when in Hindi) की जानकारी हिंदी भाषा में दी गई है.

टेक्नोलॉजी एवं इंटरनेट के समय में हर कोई विश्व में हुए सभी प्रकार के आविष्कारों के बारे में जानने के इच्छुक हैं, इसी तर्ज पर आज हम बात कर रहे हैं कि घड़ी का आविष्कार किसने किया एवं कैसे किया किस देश में किया गया था, इसके अलावा आज के लेख में घड़ी के अविष्कार का इतिहास के बारे में विस्तार से जानेंगे की दुनिया में सबसे पहले घड़ी किसने बनाई एवं आधुनिक गाड़ी का आविष्कार किसने किया.

डिजिटल के इस दौर में इस्तेमाल की जाने वाली घड़ियों का आविष्कार एक बार में नहीं हुआ है, घड़ी का आविष्कार सबसे पहले किया गया था उस समय की घड़ी एवं आज के समय की आधुनिक घड़ी में काफी अंतर है, आपको बता दें कि पुराने जमाने की घड़ी में सिर्फ घंटे वाली सुई बनाई गई थी, जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास हुआ उसी प्रकार धीरे-धीरे घड़ी को भी डिवेलप किया गया.

घड़ी का आविष्कार किसने किया इसका श्रेय पूर्णता किसी एक व्यक्ति को देना उचित नहीं होगा इसलिए आज के लेख में आपको यह विस्तार से बताएंगे कि दुनिया में सर्वप्रथम घड़ी किसने बनाई एवं कैसे घड़ी का विकसित कर कलाई घड़ी, दीवाल घड़ी एवं अलार्म जैसी आधुनिक गाड़ियों का विकास हुआ, चलिए आपके मूल्यवान समय को ध्यान में रखते हुए यह लेख घड़ी का आविष्कार किसने किया था, घड़ी का आविष्कार कब हुआ था, घड़ी का आविष्कार करने वाले वैज्ञानिक का नाम क्या है, यह लेख शुरू करते हैं.

घड़ी क्या है, कितने प्रकार की होती है?

जानिए क्या होती है घड़ी, ऐसा आधुनिक यंत्र जो समय की गणना कर सही समय को घंटा मिनट एवं सेकंड को प्रति सेकंड में बताता रहता है इस प्रकार के यंत्र को ही घड़ी कहते हैं, वर्तमान समय में उपयोग की जाने वाली घड़ियों को Wrist Watch कहा जाता है.

आधुनिक घड़ियों के अलग-अलग प्रकार होते हैं जैसे कि कलाई घड़ी, दीवाल घड़ी, पनडुब्बी घड़ी या जल घड़ी इलेक्ट्रिक घड़ी आदि, कलाई घड़ी को पुरुष, महिला या बच्चे अपने हाथ की कलाई पर पहनते हैं जो आज के समय की एक आधुनिक घड़ी है, दीवार घड़ी मकान के दीवारों पर टांगी जाती है जिसमें समय देखने के साथ-साथ सजावट के लिए भी लगाया जाता है, जल घड़ी एक ऐसी घड़ी होती है जिसको लेकर आप स्विमिंग पूल, नदी, तालाब एवं कुएं में अपने हाथ में बांधकर तेर सकते हो, इस घड़ी में अंदर के फुल पुर्जो में पानी प्रवेश नहीं करता है इसीलिए इस घड़ी को जल घड़ी या पनडुब्बी घड़ी कहते हैं.

इलेक्ट्रिक घड़ी आज के समय की सबसे ज्यादा आधुनिक घड़ी माना जाता है इस गाड़ी में टाइम की सुविधा के साथ-साथ अन्य विशेषताएं भी उपलब्ध है, इलेक्ट्रिक घड़ी स्क्रीन टच होती है जो मोबाइल की स्क्रीन जैसे काम करती है इसमें समय और दिनांक को हम उसके कांच पर टच करके सेट कर सकते हैं एवं जिसमें म्यूजिक का सिस्टम भी होता है साथ ही अलार्म सुविधा भी उपलब्ध होती है.

घड़ी का आविष्कार किसने किया था?

सबसे पहले या सर्वप्रथम घड़ी का आविष्कार किसने किया इसके बारे में जानना अति आवश्यक है क्योंकि यही घड़ी का प्रारंभ है इसके बाद ही आधुनिक गाड़ियों का विकास संभव हो पाया है.

सर्वप्रथम घड़ी का आविष्कार पीटर हेनले (Peter Henlein) ने किया था, पीटर हेनले पहले ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने गाड़ी का आविष्कार किया था, या आप ऐसा भी कह सकते हो कि पीटर हेनली द्वारा बनाए गए समय मापक यंत्र को ही Clock Watch के नाम से जाना गया था. Peter Henlein जी ने घड़ी का आविष्कार किया था उसी तकनीक को देखते हुए बाद में जैसे-जैसे समय बीतता गया एडवांस या फैसिलिटी वाली घड़ियां भी बनाई जाने लगी लेकिन यह घड़ियां भी आज के समय जैसी आधुनिक घड़िया नहीं थी.

पुराने समय में घड़ी का आविष्कार नहीं हुआ था उस समय लोग अलग-अलग प्रकार से एवं अलग-अलग तकनीक से समय देखते थे जो ना तो आधुनिक थी और ना ही किसी प्रकार की टेक्नोलॉजी युक्त थी, भारत के राजस्थान राज्य के जंतर मंतर को समय का पता लगाने के लिए उपयोग किया जाता था.

इसके अलावा पानी उपयोग कर भी समय का पता लगाया जाता था जैसे कि पानी को किसी एक बर्तन या किसी एक प्रकार की यंत्र में भरकर रख दिया जाता था धीरे-धीरे पानी रिश्ता था उसके आधार पर भी समय का पता लगाया जाता था.

अगर आप गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन पर सर्च करोगे कि घड़ी का आविष्कार किसने किया या फिर घड़ी का आविष्कार करने वाले वैज्ञानिक का नाम क्या है तो आपको उत्तर में Peter Henlein का नाम सबसे पहले मिलेगा, इसका सबसे बड़ा कारण यही है कि इन्होंने सबसे पहले घड़ी का आविष्कार किया था इसीलिए सबसे ज्यादा श्रेय इनको ही दिया जाता है.

Peter Henlein जी ने घड़ी का आविष्कार किया था उसी तकनीक को देखते हुए बाद में जैसे-जैसे समय बीतता गया एडवांस या फैसिलिटी वाली घड़ियां भी बनाई जाने लगी लेकिन यह घड़ियां भी आज के समय जैसी आधुनिक घड़िया नहीं थी.

996 ईसा पूर्व मैं श्रेय पोप सिल्वेस्टर द्वितीय नेवी एक यंत्र तैयार किया था जो समय मापन यह समय बताने का कार्य करता है, सन 1288 में इंग्लैंड देश के घंटा घरों में भी घड़ियां लगाना शुरू कर दिया था, घड़ी के अविष्कार में घड़ी की मिनट वाली सुई का आविष्कार करने का श्रेय स्वीटजरलैंड के जोश बरगी को जाता है क्योंकि इन्होंने ही घड़ी की मिनट वाली सुई का आविष्कार किया था.

कलाई घड़ी यानी हाथ में पहनने वाली घड़ी का आविष्कार ब्लेज पास्कल ने किया था, महान विज्ञानिक ब्लेज पास्कल ने हाथ में पहनने वाली घड़ी या रिस्ट वॉच का आविष्कार के साथ साथ केलकुलेटर का आविष्कार भी किया था, ब्लेज पास्कल ने ही सबसे पहले काम करते समय गाड़ी को रस्सी से बांधकर अपने हाथ की कलाई में बांधना या पहनना शुरू किया था.

घड़ी का आविष्कार कब हुआ When Was The Invented in Hindi

सन 1996 ईसा पूर्व में सिल्वेस्टर द्वितीय घड़ी का आविष्कार किया था, यूरोप में घड़ियों का उपयोग करीबन तेरहवीं शताब्दी के आसपास होने लगा था, इसके अलावा सन 1288 में इंग्लैंड देश के वेस्टमिंस्टर के घंटा घरों में भी कई घड़ियां लगाई गई थी, पीटर ने इंग्लैंड में 1505 में क्लॉक वॉच का आविष्कार किया था पीटर हेनले के द्वारा किए गए कि क्लॉक वॉच के अविष्कार के बाद वर्ष 1577 में स्विट्जरलैंड के जोश बर्गी ने मिनट की सुई का आविष्कार किया था.

वर्ष 1650 के आसपास जैसे हम वर्तमान में हाथ की घड़ी पहनते हैं उससे मिलती-जुलती घड़ी का आविष्कार फ्रांसीसी गणितज्ञ ब्लेज पास्कल किया था, वर्ष 1988 में Steve Mann ने सेल से चलने वाली लिनक्स स्मार्ट वॉच का आविष्कार किया था जिनको कंप्यूटर का जनक भी बोला जाता है.

Blaise pascal
image credit- Peter Schmidt

आधुनिक घड़ी का आविष्कार किसने और कब किया?

आधुनिक घड़ी का आविष्कार किसने किया यह बताना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि घड़ी का आविष्कार किसी एक व्यक्ति ने नहीं किया है अलग-अलग लोगों का अलग-अलग समय में अलग-अलग प्रकार से घड़ी को डेवलप किया गया है, जिस प्रकार घड़ी की मिनट वाला सुई का आविष्कार वर्ष 1577 में स्विट्जरलैंड के जोश बरगी ने किया था, इसी प्रकार धीरे-धीरे टेक्नोलॉजी के हिसाब से घड़ी का विकास होता चला गया.

यांत्रिक घड़ी का आविष्कार किसने किया और कब?

आपको बता दें कि साधारण घड़ी के आविष्कार के बाद यांत्रिक घड़ी का आविष्कार सन् 1725 में चीन देश के आई सिंग व लियांग सेंग ने किया था.

पेंडुलम घड़ी का आविष्कार किसने किया और कब किया?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पेंडुलम घड़ी का आविष्कार वर्ष 1656 में नीदरलैंड देश के क्रिस्चियन हुंगेंश ने किया था.

तिम शब्द –

भारतीय पुरातत्व का जनक कौन है? प्राचीन एवं मध्यकालीन भारतीय इतिहास से संबंधित आज का यह लेख भारतीय पुरातत्व का पिता किसे कहा जाता है, जरूर पसंद आया होगा ऐसी हमें उम्मीद है।
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के प्रथम महानिदेशक सर अलेक्जेंडर कनिंघम, आज के इस लेख से संबंधित अगर आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में अपना परिचय सकते हैं आपकी मदद की जाएगी। प्राचीन इतिहास एक परिचय से संबंधित प्रश्न आजकल संघ एवं राज्य सिविल सेवा या राज्य स्तरीय प्रतियोगिता परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

Related Post-

FAQ,s

Q- घड़ी के अविष्कार का श्रेय किसको जाता है?

Ans- पोप सिलवेस्टर द्वातीय को जाता है जिन्होंने सन् 996 ईस्वी में घड़ी का अविष्कार किया था.

Q- घड़ी का अविष्कार कब किया था?

Ans- सन् 996 ईस्वी में.

Q- दुनिया की पहली घड़ी कब बनी?

Ans- सन् 996 ईसापूर्व.

Q- सबसे पहले घड़ी किसने बनाई थी?

Ans- पीटर हेनले

Q- कलाई-घड़ी का अविष्कार कब और किसने था.

Ans- घड़ियों का इतिहास 16 वी शताब्दी में शुरू हुआ, पोप सिलवेस्टर

Q- घड़ी का आविष्कार किसने किया कब किया था?

Ans- पोप सिलवेस्टर, 996 ईसापूर्व.

Q- सबसे पहले घड़ी किसने बनाई थी?

Ans- पोप सिलवेस्टर

Q- भारत में घड़ी का आविष्कार किसने किया था?

Ans- पोप सिलवेस्टर

Q- दुनिया की पहली घड़ी कब बनी थी?

Ans- 996 ईसापूर्व

निष्कर्ष –

घड़ी का आविष्कार किसने किया? लेख से आपको कुछ सीखने को जरूर मिला होगा क्योंकि हिंदी नोट की आधिकारिक वेबसाइट पर सभी आर्टिकल रिसर्च करके अपलोड किए जाते हैं, आज का लेख घड़ी का आविष्कार कब हुआ था या घड़ी का आविष्कार किसने और कब किया था जरूर पसंद आया होगा.

घड़ी का आविष्कार सबसे पहले किसने किया था? लेख से संबंधित अगर आपका कोई भी प्रश्न हो तो आज के इस लेख Ghadi Ka Avishkar Kisne Kiya, Ghadi Ka Avishkar Kab Hua tha, के नीचे कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न भेजें आपकी हेल्प की जाएगी.

Leave a Comment