खेल का महत्त्व पर निबंध Essay on Importance of Sport in Hindi

खेल का महत्व पर निबंध Essay on Importance of Sport in Hindi (1000 Words)

नमस्कार दोस्तो, हिन्दीनोट बेवसाइट पर आपका स्वागत है। आज के लेख में “खेल का महत्व पर निबंध Essay on Importance of Sport in Hindi” हिंदी भाषा में लिखा गया है। आज के समय में खेलों (Sports) का बहुत महत्व है, लेकिन कुछ समय पहले खेलों को बहुत कम महत्व देते थे जिसके परिणाम खेलों के छेत्र में देश पिछड़ा हुआ था। आज भी गांवों में आप देखते होंगे ऐसे ऐसे प्रतिभावान खिलाडी होते है लेकीन उनको सही प्लेटफॉर्म नही मिलने से आगे नही बड़ पाते हैं। जो बिल्कुल गलत है।

Khelo Ka Mahatva Par Nibandh – Essay on Importance of Sport in Hindi (1000 Words), चलिए जीवन में खेलों का महत्व पर निबंध (Jivan Me Khelo Ka Mahatva Par Nibandh शुरू करते हैं।

खेलों का महत्व पर निबंध | खेल पर निबंध

प्रस्तावना : जीवन में खेलों का महत्व [Jivan Me Khelo Ka Mahatva] आज के समय में बहुत ज्यादा है। खेल जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। खेल के बिना जीवन अधूरा है। जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए मनुष्य को सब प्रकार की आवश्यकताएं होती है। शारीरिक मानसिक और आत्मिक विकास यह तीनों ही मनुष्य को जीवन में सफल बनाने के लिए पूर्ण रूप से सहायक होते हैं। तीनों का योगदान ही जीवन को विकसित और पूर्ण बनाता है। अगर इनमें से किसी एक का अभाव होगा तो यह जीवन अभावों से भर जाएगा। इसलिए हमें तीनों ही आवश्यकताओं को पूर्ण रूप से प्राप्त करने की पूरी कोशिश करनी चाहिए। Essay on Importance of Sport in Hindi (1000 Words)।

खेल का महत्व | भारत में खेल का महत्व

भारत जैसे बड़े देश में आज लोगो के जीवन में खेलों का बहुत अधिक महत्व है। खेल खेलना हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता हैं। यो तो व्यक्ति के सफलता के लिए शारीरिक, मानसिक और आत्मिक शक्तियों में से कोई भी एक शक्ति किसी से कम महत्वपूर्ण नहीं है लेकिन शारीरिक शक्ति की आवश्यकता इनमें से सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। शारीरिक शक्ति के विकास के लिए हम कोई ना कोई शारीरिक काम किया करते है। शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ, प्रसन्न और चुस्त बनाने के लिए कई प्रकार के शारीरिक कार्य किए जाते हैं। दिन भर कोई ना कोई कार्य करते रहना भी शारीरिक शक्ति के विकास के मुख्य रूप है, शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ और निरोग रखने के लिए खेलकूद का महत्व बहुत अधिक है बिना खेलकूद के जीवन अधूरा रह जाता है।

इसलिए खेल को बढ़ावा देने के लिए राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सरकारें कई प्रयास करती हैं व 6 अप्रैल को विश्व भर में अंतर्राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। और यह कहा भी गया है कि सारे दिन काम करना, खेलना नहीं
यह होशियार को मूर्ख बना देता है। इसलिए जीवन के विकास के लिए किसी ना किसी खेल का महत्व निश्चय ही होता है।

विद्यालय में खेल का महत्व

खेल से हमारा जीवन शिक्षित और आनंदित होता है। जो विद्यार्थी दिन भर पढ़ने में लगा रहता, ऐसे में खेल ही उस विद्यार्थी के शरीर में पुनः काम करने की शक्ति लाने में सहायक है।

केवल काम में तल्लीन रहना अथवा केवल खेल में व्यस्त रहना कोई अच्छी बात नहीं है। हमें अपने जीवन में दोनों को समान महत्व देना चाहिए तभी जीवन सफल व विकसित बनता है। जीवन में गतिशीलता तभी आती है जब हम खेलों के समय खेलते हैं और काम करने के समय काम करते हैं।

खेल से लाभ

खेल खिलाड़ी की आत्मा है। ‘खेल की भावना’ उसकी आत्मा का श्रृंगार है प्रत्येक खिलाड़ी को अपने इस पवित्र भावना पर गर्व होता है। यही पुण्य भावना खिलाड़ी को आपसी सहयोग, संगठन, अनुशासन एवं सहनशीलता की शिक्षा देती है। खेलने वालों में संघर्ष से लड़ने की शक्ति आ जाती है। खेल में विजय की दशा में उत्साह और हारने की अवस्था में सहनशीलता का भाव आता है। खेलते समय न तो कोई खिलाड़ी विजय प्राप्त करने के लिए अपने विरोधी को अनुचित ढंग से परास्त करने की सोचता है और ना ही पराजय की अवस्था में प्रतिशोध की आग में जलता है। इसके विपरीत खिलाड़ियों का विश्वास है कि उसकी असफलता सफलता का संदेश लेकर आई है।

खेल से अनुशासन की शिक्षा मिलती है। खेल खेलने से हमें कोई भी काम नियम पूर्वक करने की शिक्षा मिलती है। खेलों को मनोरंजन का उत्तम स्रोत भी माना जाता है। खेल मनोरंजन की सामग्री भी जुटाते हैं। खिलाड़ियों अथवा खेलों के प्रेमी दोनों को ही खेलों से भरपूर मनोरंजन मिलता है। ऐसे लोगों को भाग्यहीन कहना चाहिए जो खेलों से प्राप्त मनोरंजन के महत्व को ही नहीं जानते।

खेल के प्रकार

खेल अनेक प्रकार के होते है। लेकिन खेलों को मुख्यतः इनडोर तथा आउटडोर दो वर्गों में बांटा गया है। इनडोर खेल मानसिक विकास में सहायक होते हैं तो वहीं आउटडोर खेल शारीरिक विकास में में सहायक होते हैं। लूडो, कैरम, टेबल टेनिस, चैस आदि इनडोर खेल के उदाहरण हैं। दूसरी ओर क्रिकेट, फुटबॉल, बास्केटबॉल, हॉकी, टेनिस, वॉलीबॉल, बैडमिंटन आदि आउटडोर खेल के उदाहरण है।

आउटडोर खेलों के लिए एक बड़े मैदान की आवश्यकता होती है यह खेल शरीर को स्वस्थ तथा तंदुरुस्त रखते हैं लेकिन इनडोर खेल के लिए किसी बड़े मैदान की आवश्यकता नहीं होती ऐसे खेलों को हम घर के अंदर ही खेल सकते हैं तथा यह खेल किसी भी आयु के व्यक्ति खेल सकते हैं। इनडोर खेल हमारे मस्तिष्क को स्वस्थ रखते हैं।

खेल में करियर

वैसे तो खेल मनोरंजन का उत्तम स्रोत माना जाता है लेकिन बहुत सारे लोग खेल को कैरियर के रूप में भी देखते हैं। ऐसे लोग बहुत अधिक मेहनत करते हैं तथा एक विशेष खेल में अपना करियर बनाते है। आप लोगों ने अपने बचपन में “पढ़ोगे लिखोगे तो बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोगे तो बनोगे खराब” वाली कहावत जरूर सुनी होगी। लेकिन बदलते दौर के साथ इस कहावत की परिभाषा भी बदल चुकी है क्योंकि आज खेल में भी एक अच्छा करियर बनाया जा सकता है।

खेलो में कैरियर बनाने वाले भारत के अनेक खिलाड़ी है जिन्होने अंतर्राष्ट्रीय खेलो में अच्छा प्रदर्शन किया और भारत देश और अपने परिवार का नाम रोशन किया है। अंतर्रष्ट्रीय स्थर पर खेलो में कैरियर बनाने वाले मुख्य खिलाड़ी के नाम और उनके द्वारा खेले गए खेल कुछ इस प्रकार है – मेजर ध्यानचंद (हांकी), सचिन तेंदुलकर (क्रिकेट), विराट कोहली (क्रिकेट), स्मृति मंधाना (क्रिकेट), मिताली राज (क्रिकेट), नीरज चोपड़ा (भाला फेंक), अभिनव बिंद्रा (सतरंज) आदि। आज खेल के क्षेत्र में करियर के अनेक विकल्प मौजूद हैं।

Related Post –

उपसंहार

खेल से हमारा जीवन महान बनता है हम समाज में आदर और महत्व को प्राप्त करते हैं। इससे हम उत्साह प्राप्त करके जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ते हैं, अगर हम किसी काम में असफल भी हो जाते हैं तो भी हम कोई ही नहीं हारते बल्कि दुगुने उत्साह से काम करने लगते हैं। यह कहा भी गया है कि एक स्वस्थ शरीर मे स्वस्थ मस्तिष्क का विकास होता है। स्वस्थ जीवन ही सफलता प्राप्त करने की कुंजी है।

इस प्रकार हमारे जीवन में खेलों का विशेष महत्व है जिससे हमारा जीवन संपन्न और खुशहाल बनता है इसे ध्यान में रखकर के हमें खेलों में रुचि रखनी चाहिए तथा उन्हें अपने जीवन में विशेष महत्व देना चाहिए।

FAQ,s

Q: खेल से क्या लाभ है वर्णन करें?

Ans- खेल खिलाड़ी की आत्मा है। ‘खेल की भावना’ उसकी आत्मा का श्रृंगार है प्रत्येक खिलाड़ी को अपने इस पवित्र भावना पर गर्व होता है। यही पुण्य भावना खिलाड़ी को आपसी सहयोग, संगठन, अनुशासन एवं सहनशीलता की शिक्षा देती है। खेलने वालों में संघर्ष से लड़ने की शक्ति आ जाती है। खेल में विजय की दशा में उत्साह और हारने की अवस्था में सहनशीलता का भाव आता है। खेलते समय न तो कोई खिलाड़ी विजय प्राप्त करने के लिए अपने विरोधी को अनुचित ढंग से परास्त करने की सोचता है और ना ही पराजय की अवस्था में प्रतिशोध की आग में जलता है। इसके विपरीत खिलाड़ियों का विश्वास है कि उसकी असफलता सफलता का संदेश लेकर आई है।

Q: खेल कितने प्रकार के होते हैं?

Ans – खेलों को मुख्यतः इनडोर तथा आउटडोर दो वर्गों में बांटा गया है। इनडोर खेल मानसिक विकास में सहायक होते हैं तो वहीं आउटडोर खेल शारीरिक विकास में में सहायक होते हैं। लूडो, कैरम, टेबल टेनिस, चैस आदि इनडोर खेल के उदाहरण हैं। दूसरी ओर क्रिकेट, फुटबॉल, बास्केटबॉल, हॉकी, टेनिस, वॉलीबॉल, बैडमिंटन आदि आउटडोर खेल के उदाहरण है।

Q: भारत में खेलों का महत्व क्या है बताईए

भारत जैसे बड़े देश में आज लोगो के जीवन में खेलों का बहुत अधिक महत्व है। खेल खेलना हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता हैं। यो तो व्यक्ति के सफलता के लिए शारीरिक, मानसिक और आत्मिक शक्तियों में से कोई भी एक शक्ति किसी से कम महत्वपूर्ण नहीं है लेकिन शारीरिक शक्ति की आवश्यकता इनमें से सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। शारीरिक शक्ति के विकास के लिए हम कोई ना कोई शारीरिक काम किया करते है। शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ, प्रसन्न और चुस्त बनाने के लिए कई प्रकार के शारीरिक कार्य किए जाते हैं। दिन भर कोई ना कोई कार्य करते रहना भी शारीरिक शक्ति के विकास के मुख्य रूप है, शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ और निरोग रखने के लिए खेलकूद का महत्व बहुत अधिक है बिना खेलकूद के जीवन अधूरा रह जाता है।

निष्कर्ष –

हमे आशा है कि हमारी आधिकारिक वेबसाइट HindiNote – Tech in Hindi की पोस्ट “खेल का महत्त्व पर निबंध Essay on Importance of Sport in Hindi (1000 Words)” जरूर पसंद आई होगी। मेरा हमेशा यही प्रयास रहता है कि पाठकों को अच्छे से अच्छे लेख पूरी तरह रिसर्च करके जानकारी प्रदान की जाएं ताकि पाठकों को दूसरे Site या ineternet पर उस आर्टिकल के संदर्भ में खोजने की आवश्यकता नही पड़े।

यदि आपको मेरी वेबसाइट के इस article से कुछ सीखने को मिला तो कृपया आर्टिकल को सभी सोशल नेटवर्क जैसे Facebook, Whatsapp, Instagram, Teligram पर शेयर कीजिए, आपका दिन शुभ हो, धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x