बारकोड क्या है, Barcode कैसे काम करता है?

बारकोड क्या है, कैसे काम करता है? – What is Barcode in Hindi

नमस्कार दोस्तों, हमारी आधिकारिक वेबसाइट हिंदीनोट (HindiNote) पर आपका स्वागत है.
आपके दिमाग मे यह प्रश्न जरूर आता होगा की बार कोड क्या होता है, Barcode का क्या महत्व है, बार कोड को हम कैसे पढ़ सकते है इन सभी सवालों के जवाब आपको इस लेख में मिलने वाले हैं.
आज के लेख में यह बताया कि “बार कोड क्या है, इसे कैसे पढ़ा जाता है? What is a bar code in Hindi” की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में लिखी गई हैं.
दोस्तो आपने इस Internet और Digital की दुनिया मे बार कोड (Barcode) का नाम तो सुना ही होगा.

आज कल हर पैकेजिंग वस्तु पर बारकोड होता है लेकिन उसको हम पढ़ नही सकते क्योंकि यह कोड को इंसान नहीं पढ़ सकता, इसे पढ़ने के एक मशीन की जरूरत पढ़ती है जो आम आदमी के पास नही होती है, क्योंकि आम आदमी को कभी काम नहीं पड़ता है.
चलिए बार कोड के बारे मे जानते है.

बार कोड क्या है ? What is Barcode in Hindi

बारकोड एक डिजिटल कोड होता है, इसका उपयोग पैकेजिंग वस्तु के ऊपर होता है.
बार कोड काली ओर सफेद पट्टी वाली खंभे की आकृति जैसी बहुत सारी पट्टियां होती है.
उनकी चौड़ाई ओर दो पट्टियों के बीच की दूरी के हिसाब से इनके अंदर कुछ सूचनाएं रहती है जो हमको दिखाई नही देती है.
सफेद और काली पट्टियों के नीचे कुछ अंक रहते है जैसे 0123456789012, इन सभी सफेद काली पट्टियों व नंबरिंग के अंदर ही बारकोड रहता है.
बार कोड के अंदर कोई भी समान हुआ उस समान का उत्पादन दिनांक, वस्तु का प्रकार, जिस कंपनी ने उस वस्तु को बनाया है उसका विवरण रहता है.
आपको यह पता चल गया कि बार कोड होता क्या है, चलिए अब जानते है कि बारकोड कितने प्रकार के होते है.

बारकोड के प्रकार

बार कोड दो प्रकार के होते है
पहला – 1D ओर दूसरा 2D
1D बारकोड – इस बार कोड पाठ की इनफॉर्मेशन को स्टोर करने के लिए उपयोग की जाने वाली लाइनों की एक चैन है.
यह वस्तु पैकेजिंग के उपर वाले भाग में दिखाई देता है. इसमें वस्तु उत्पाद का प्रकार, आकर ओर रंग की इनफॉर्मेशन होती है, इसका उपयोग बुक्स के पीछे ISBN संख्याओं मे किया जाता है.
2D बारकोड- यह पहले वाले से थोड़ा अधिक जटिल है इसमें ज्यादा इनफॉर्मेशन सामिल रहती है, इसमें वस्तु की कीमत, मात्रा ओर एक वस्तु की फोटो भी हो सकती है.

बारकोड रीडर क्या है?

अब बात करते है की बार कोड रीडर क्या है, इसे कैसे पढ़ा जाता है या बारकोड के अंदर की जानकारी किस उपकरण से देख सकते है.
बार कोड को बार कोड रीडर नाम ( Barcode scanner online ) उपकरण से पढ़ा जाता है यह मशीन का उपयोग बड़ी बड़ी वस्तु निर्माण कंपनिया करती है.
बारकोड रीडर मे (Barcode Reader) लेजर बीम (laser beam) उपयोग किया जाता है जो परावत्तित किरणों के माध्यम से Data को Computer मे भेजता है।
जिससे यह पता चल जाता है कि बारकोड मे क्या क्या इनफॉर्मेशन है.

यह भी पढ़ें :-

मोबाइल में हिंदी टाइपिंग कैसे करे ? । How to type Hindi in mobile keyboard ?

Sandesh App क्या है?, Sandesh App download और Use कैसे करें?

बारकोड का आविष्कार किसने किया ?। Who invented bar code?

इतना सब जानने के बाद आपको यह जानकारी भी होना जरूरी है कि बारकोड का आविष्कार किसने किया था.
बार कोड का आविष्कार सन 1940 में जोसेफ वुडलैंड और बनार्ड सिल्वर ने किया था, लेकिन इसको प्रचारित करने वाले ऐलेन मैन किया था.
भारत में बारकोड का प्रयोग सन 1998 मे नेशनल इनफॉर्मेशन इंडस्ट्रियल द्वारा जरूरी किया गया था.

बार कोड का प्रयोग कहा ओर क्यों किया जाता है?

बारकोड का प्रयोग लगभग हर वस्तु की पैकिंग के ऊपर किया जाता है, वस्तु किसी भी श्रेणी की हो खान पान की वस्तु, इलेक्ट्रिक वस्तु, मशीन आदि पर किया जाता है.
बारकोड का उपयोग खुदरा दुकानों में खरीदारी की प्रक्रिया के हिस्से के रूप मे भी किया जाता है.
आज कल तो बार कोड का प्रयोग सरकारी ओर प्राइवेट बैंकों व पोस्ट ऑफिसों में भी किया जाने लगा है.
कोड बार का प्रयोग इसलिए किया जाता है की वस्तु का पता चल सके की वस्तु बनाने वाली कंपनी कोन सी है, वस्तु का प्रकार क्या है, वस्तु की लॉन्च दिनांक ओर एक्सपायरी दिनांक क्या है. ओर वस्तु उपयोग की कुछ हिदायतें भी रहती है व कंपनी की कुछ टर्म्स और कंडीशन क्या है उस वस्तु के बारे में आदि.

बार कोड के फायदे क्या है?

दोस्तो बार कोड वस्तु की कीमत, मात्रा, प्रकार, आकर ओर रंग को जानने का एक सटीक जानकारी बताने वाला जरिया है, अगर आप यही काम किसी पेपर पर टाइप कर उत्पाद वस्तु पर चिपकाकर करोगे तो आपका समय तो खराब होगा ही साथ सटीक परिणाम मिले इसकी कोई गारंटी नहीं होती.
मैनुअल रूप से उत्पाद वस्तु पर चिपकाया या प्रिंट किया गया इनफॉर्मेशन मशीन या उपकरण से नही देखा जा सकता है.
बार कोड एक सटीक ओर कम समय मे देखा जाने वाला कोड हैं.

FAQ,s

बार कोड क्या हैं ?

बारकोड एक डिजिटल कोड होता है, इसका उपयोग पैकेजिंग वस्तु के ऊपर होता है.
बार कोड काली ओर सफेद पट्टी वाली खंभे की आकृति जैसी बहुत सारी पट्टियां होती है.
उनकी चौड़ाई ओर दो पट्टियों के बीच की दूरी के हिसाब से इनके अंदर कुछ सूचनाएं रहती है जो हमको दिखाई नही देती है.
सफेद और काली पट्टियों के नीचे कुछ अंक रहते है जैसे 0123456789012, इन सभी सफेद काली पट्टियों व नंबरिंग के अंदर की बारकोड रहता है.
बार कोड के अंदर कोई भी समान हुआ उस समान का उत्पादन दिनांक, वस्तु का प्रकार, जिस कंपनी ने उस वस्तु को बनाया है उसका विवरण रहता है

1 डी और 2 डी बारकोड के बीच अंतर क्या है?

1D बारकोड – इस बार कोड पाठ की इनफॉर्मेशन को स्टोर करने के लिए उपयोग की जाने वाली लाइनों की एक चैन है.
यह वस्तु पैकेजिंग के उपर वाले भाग में दिखाई देता है. इसमें वस्तु उत्पाद का प्रकार, आकर ओर रंग की इनफॉर्मेशन होती है, इसका उपयोग बुक्स के पीछे ISBN संख्याओं मे किया जाता है.
2D बारकोड- यह पहले वाले से थोड़ा अधिक जटिल है इसमें ज्यादा इनफॉर्मेशन सामिल रहती है, इसमें वस्तु की कीमत, मात्रा ओर एक वस्तु की फोटो भी हो सकती है.

बारकोड का पूर्ण रूप क्या है?

बारकोड का पूर्ण रूप Barcode ही होता है.

बारकोड रीडर क्या है ?

बार कोड को बार कोड रीडर नाम के उपकरण (मशीन) से पढ़ा जाता है यह मशीन का उपयोग बड़ी बड़ी वस्तु निर्माण कंपनिया करती है.
बारकोड रीडर मे (Barcode Reader) लेजर बीम (laser beam) उपयोग किया जाता है जो परावत्तित किरणों के माध्यम से Data को Computer मे भेजता है।
जिससे यह पता चल जाता है कि बारकोड मे क्या क्या इनफॉर्मेशन है.

निष्कर्ष –

हम आशा है कि हमारी आधिकारिक वेबसाइट HindiNote (हिंदी नोट) की पोस्ट “बार कोड क्या है, इसे कैसे पढ़ा जाता है?, What is a bar code in Hindi” जरूर पसंद आई होगी । मेरा हमेशा यही प्रयास रहता है कि पाठकों को अच्छे से अच्छे लेख पूरी तरह रिसर्च करके जानकारी प्रदान की जाएं ताकि पाठकों को दूसरे Site या ineternet पर उस आर्टिकल के संदर्भ में खोजने की आवश्यकता नही पड़े.

इससे साइट पर आने वाले पाठकों की समय की भी बचत होगी और एक ही आर्टिकल में पूरी जानकारी मिल जाएं. अगर फिर भी आपके मन में कोई आर्टिकल को लेकर प्रश्न हो तो कृपया आर्टिकल के कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं आपकी हेल्प की जाएगी.

यदि आपको मेरी वेबसाइट HindiNote के इस article से कुछ सीखने को मिला तो कृपया आर्टिकल को सभी सोशल नेटवर्क जैसे Facebook, Whatsapp, Instagram, Teligram पर शेयर कीजिए, आपका दिन शुभ हो, धन्यवाद ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x